Characteristics of Computer (कंप्यूटर की विशेषताएं)

कंप्यूटर की कई फायदे और नुकसान हैं।आज हम एक-एक करके जानेंगे । ( There are many advantages and disadvantages of computers. Today we will know one by one. )

आज हम Computer की कई विशेषताएं के बारे मे एक-एक कर के विस्तृत रूप से जानेगे, कंप्यूटरों की बढ़ती लोकप्रियता ने साबित कर दिया है कि आज के समय मे ये यह एक बहुत शक्तिशाली और उपयोगी उपकरण हो गया हैं । कंप्यूटर की विशेषताएं के साथ – साथ कुछ लाभ और कुछ सीमाएँ भी हैं। उसी के बारे मे विस्तृत जानने का प्रयास करते हैं।

लाभ (Advantages)

निम्न सूची आज के क्षेत्र में कंप्यूटर के लाभों को प्रदर्शित करती है।

1 :स्वचालित (Automatic). कंप्यूटर्स को स्वचालित मशीन कहा जा सकता है यदि वह बिना मानव हस्तक्षेप के अपना काम करता है। कंप्यूटर्स एक बार कोई काम सुरू कर देता है, तो तब तक करता हैं जब तक काम खत्म नो हो जाए, वो भी बिना मानव हस्तक्षेप के। कंप्यूटर्स एक मशीन। कंप्युटर मे कोडिंग और एक प्रोग्राम के तहत काम करता। कंप्यूटर की कुछ अन्य विशेषताएं जैसे गति और सटीकता इस तथ्य के कारण हैं कि वे स्वचालित हैं और बिना किसी मानव अवरोध के समस्या पर काम करता हैं।

  • Computer एक स्वचालित मशीन है।
  • ऑटोमेशन का अर्थ है दिए गए कार्य को स्वचालित रूप से करने की क्षमता।
  • एक बार एक प्रोग्राम कंप्यूटर को दिया जाता है यानी कंप्यूटर मेमोरी में स्टोर किया जाता है, प्रोग्राम और इंस्ट्रक्शन कर सकता हैं।
  • मानव अंतःक्रिया (Interaction) के बिना कार्यक्रम के निष्पादन (execution) को नियंत्रित कर सकता हैं।

2 :उच्च गति (high speed ). कंप्यूटर्स की काम करने की गति बहुत तेज होती हैं। जिस काम को मनुष्य एक साल मे या उससे ज्यादा समय लगायेगा , कंप्युटर उसी काम को एक दिन या एक रात मे कर देगा। कंप्यूटर की गति के बारे में बात करते समय हम दूसरे या यहां तक कि मिलीसेकंड के संदर्भ में बात नहीं करते हैं, हमारी गति की इकाई माइक्रोसेकंड, नैनोसेकंड और यहां तक कि पिकोसकंड है। एक शक्तिशाली कंप्यूटर प्रति सेकंड कई मिलियन सरल अंकगणितीय ऑपरेशन करने में सक्षम होता हैं।

  • कंप्यूटर एक बहुत तेज डिवाइस है।
  •   यह बहुत बड़ी मात्रा में डेटा की गणना करने में सक्षम है।
  •   कंप्यूटर में एक माइक्रोसेकंड, नैनोसेकंड और यहां तक कि पिकोसेकंड में गति की इकाइयां हैं।
  •   यह कुछ सेकंड में लाखों लोगों की गणना कर सकता है।

3 :शुद्धता (accuracy). बहुत तेज़ होने के अलावा, कंप्यूटर बहुत सटीक हैं। कंप्यूटर की सटीकता लगातार उच्च होती है और किसी विशेष कंप्यूटर की सटीकता की डिग्री इसके डिजाइन पर निर्भर करती है, लेकिन विशेष रूप से कंप्यूटर के लिए प्रत्येक गणना प्रत्येक सटीकता के साथ की जाती है।जब हाथ से कार्य किया जाता है तब माननीय त्रुटि की संभावना रहती है परिशुद्धता सुनिश्चित करने के तरीके से कार्य करने के लिए कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है फिर भी अगर कंप्यूटर को दिया गया इनपुट अशुद्ध है तो आउट भी अशुद्ध ही होगा।

  • बहुत तेज होने के अलावा, कंप्यूटर बहुत सटीक हैं।
  • गणना 100% त्रुटि मुक्त (error-free) है।
  • कंप्यूटर सभी कार्य 100% सटीकता के साथ करते हैं बशर्ते कि सही इनपुट दिया गया हो।

4 :संग्रहण (storage ). कंप्यूटर्स बड़ी मात्रा में सूचना का संग्रह करने की क्षमता होती हैं। इंफॉर्मेशन को संगठित करने के पश्चात आवश्यकतानुसार पुनः प्राप्त भी किया जा सकता है। जब तक हम डेटा को डिलीट नहीं करेंगे तब तक वैसे ही सुरक्षित पड़ा रहेगा बहुत लंबे समय तक डेटा को सुरक्षित भी रखा जा सकता हैं।

  • मेमोरी कंप्यूटर की एक बहुत महत्वपूर्ण विशेषता है।
  •  एक कंप्यूटर में मनुष्य की तुलना में बहुत अधिक भंडारण (store) क्षमता होता है।
  •  यह बड़ी मात्रा में डेटा स्टोर कर सकता है।
  • यह किसी भी प्रकार के डेटा को संग्रहीत कर सकता है जैसे कि चित्र, वीडियो, पाठ, ऑडियो, और कई अन्य।

5 :परिश्रमी (diligence ). कंप्यूटर्स उसी शुद्धता के साथ उसी कार्य को बार-बार बिना थके कर सकते हैं, कंप्यूटर से घंटों काम लिया जा सकता हैं, बिना थके हारे । लेकिन मनुष्य इतना काम नहीं कर सकता वह थक जाएगा हार जाएगा। मनुष्य के विपरीत, एक कंप्यूटर एकरसता (monotony), थकान, एकाग्रता की कमी आदि से मुक्त होता है और इसलिए बिना किसी त्रुटि के, बिना किसी गड़बड़ी के एक साथ घंटों तक काम कर सकता है। इस विशेषता के कारण, कंप्यूटर स्पष्ट रूप से नियमित प्रकार के काम करने में इंसानों से अधिक स्कोर करता है, जिसमें बहुत सटीकता की आवश्यकता होती है। यदि दस 10 मिलियन गणनाओं को करना है, तो एक कंप्यूटर पहले की तरह सटीकता और गति के साथ 10 मिलियन गणना करेगा।

  • मनुष्य के विपरीत, एक कंप्यूटर एकरसता (monotony), थकान और एकाग्रता की कमी से मुक्त है।
  • यह बिना किसी त्रुटि और बोरियत के लगातार काम कर सकता है।
  • यह एक ही गति और सटीकता के साथ बार-बार काम कर सकता है।

6 :बहुमुखी प्रतिभा (versatility). कंप्यूटर का उपयोग साधारण और जटिल कार्यों को करने के लिए किया जाता हैं, बहुत सारा काम एक साथ कर सकता हैं । बहुमुखी प्रतिभा कंप्यूटर के बारे में सबसे अद्भुत चीजों में से एक है। एक आंदोलन, यह विशेष परीक्षाओं के परिणाम तैयार कर रहा है, अगले ही पल यह बिजली के बिल तैयार करने में व्यस्त है। और बीच में, यह एक कार्यालय सचिव को सेकंडों में एक महत्वपूर्ण पत्र का पता लगाने में मदद कर सकता है। संक्षेप में एक कंप्यूटर लगभग किसी भी कार्य को करने में सक्षम है बशर्ते कि कार्य को तार्किक चरणों की एक श्रृंखला तक कम किया जा सकता है।

  • एक कंप्यूटर एक बहुत बहुमुखी मशीन है।
  • नौकरी करने के लिए एक कंप्यूटर बहुत लचीला (flexible) है।
  • इस मशीन का उपयोग विभिन्न क्षेत्रों से संबंधित समस्याओं को हल करने के लिए किया जा सकता है।
  • एक उदाहरण में, यह एक जटिल वैज्ञानिक समस्या को हल कर सकता है, और अगले ही पल यह एक कार्ड गेम खेल सकता है।

7 :याद रखने की शक्ति(power of remembering). जैसा कि मनुष्य नया ज्ञान प्राप्त करता है, मस्तिष्क अवचेतन रूप से वह चुनता है जो उसे महत्वपूर्ण लगता है और उसकी स्मृति में बनाए रखने के लायक है, और मन के पीछे महत्वहीन विस्तार को आरोपित करता है या बस उन्हें भूल जाता है। कंप्यूटर के साथ, ऐसी बात नहीं है। एक कंप्यूटर अपने माध्यमिक भंडारण (एक प्रकार की वियोज्य मेमोरी) क्षमता के कारण किसी भी जानकारी को संग्रहीत और याद कर सकता है, जानकारी के प्रत्येक टुकड़े को उपयोगकर्ता द्वारा वांछित समय तक बनाए रखा जा सकता है और आवश्यकता पड़ने पर याद किया जा सकता है। कई वर्षों के बाद भी, याद की गई जानकारी उस दिन की तरह सटीक होगी जब इसे कंप्यूटर पर दर्ज किया गया था। एक कंप्यूटर केवल कुछ जानकारी को भूल जाता है या खो देता है, जब उसे ऐसा करने के लिए कहा जाता है। तो यह पूरी तरह से उपयोगकर्ता पर निर्भर है कि वह कंप्यूटर को बनाए रखे या विशेष जानकारी को भूल जाए।

पेपर कार्य में कमी (Reduction in Paper Work)
  • किसी संगठन में डेटा प्रोसेसिंग के लिए कंप्यूटर के उपयोग से कागजी कार्रवाई में कमी आती है और एक प्रक्रिया में तेजी आती है।
  • जैसे-जैसे इलेक्ट्रॉनिक फ़ाइलों में डेटा की आवश्यकता होती है, बड़े के रखरखाव की समस्या को दूर किया जा सकता है
  • पेपर फ़ाइलों की संख्या कम हो जाती है।
लागत में कमी(Reduction in Cost)
  • हालांकि कंप्यूटर स्थापित करने के लिए प्रारंभिक निवेश अधिक है, पर उसके बाद इसके प्रत्येक लेनदेन की लागत को काफी हद तक कम करता है।

नुकसान(Disadvantages)

निम्न सूची आज के क्षेत्र में कंप्यूटर के नुकसान को प्रदर्शित करता है।

1 :नो आई क्यू (NO I.Q.). कंप्यूटर कोई जादुई उपकरण नहीं है। यह केवल ऐसे कार्य कर सकता है जो मनुष्य कर सकता है। अंतर यह है कि यह इन कार्यों को अकल्पनीय गति और सटीकता के साथ करता है। इसके पास खुद की कोई बुद्धिमत्ता नहीं है, इसका आई क्यू (I.Q.) शून्य है, कम से कम आज तक। यह बताना पड़ता है कि क्या करना है और किस क्रम में है, इसलिए, केवल उपयोगकर्ता ही यह निर्धारित कर सकता है कि कंप्यूटर क्या कार्य करेगा। कंप्यूटर इस संबंध में अपना निर्णय नहीं ले सकता है। 

  • कंप्यूटर एक ऐसी मशीन है जिसमें कोई भी कार्य करने के लिए कोई बुद्धिमत्ता नहीं है।
  • प्रत्येक निर्देश कंप्यूटर को दिया जाना है।
  •   कंप्यूटर अपने आप कोई निर्णय नहीं ले सकता है

2 :कोई अहसास नहीं (no feeling). कंप्यूटर पास कोई भावना नहीं है, और कोई स्वाभाविक बुद्धि नहीं है, क्योंकि वे मशीन हैं। हालांकि पुरुषों ने कंप्यूटर के लिए एक मेमोरी बनाने में कामयाबी हासिल की है, लेकिन कोई भी कंप्यूटर इंसान के दिल और आत्मा के बराबर नहीं है। हमारी भावनाओं, परीक्षणों, ज्ञान और अनुभव के आधार पर, हम अक्सर अपने दैनिक जीवन में कुछ निर्णय लेते हैं। लेकिन कंप्यूटर इस तरह के निर्णय स्वयं नहीं ले सकता। उनका निर्णय हमारे द्वारा लिखित कार्यक्रमों के रूप में उन्हें दिए गए निर्देशों पर आधारित है। वे केवल उतने ही अच्छे हैं जितना एक आदमी बनाता है, और उनका उपयोग करता है।

  • कंप्यूटर की कोई भावना या ईमोशन नहीं है।
  •   यह मनुष्य के विपरीत भावनाओं, स्वाद, अनुभव और ज्ञान के आधार पर निर्णय नहीं कर सकता है।

3 :निर्भरता(Dependency):
    यह उपयोगकर्ता के निर्देश के अनुसार कार्य करता है, इसलिए यह पूरी तरह से मनुष्य पर निर्भर होना कहा जा सकता है।


4 :वातावरण(Environment):
कंप्यूटर का ऑपरेटिंग वातावरण धूल रहित और उपयुक्त होना चाहिए.

Share Post

1 thought on “Characteristics of Computer (कंप्यूटर की विशेषताएं)”

Leave a Comment